Connect with us

नौकरियां

डाटा एंट्री ऑपरेटर पदों पर भर्तियां शुरू – आवेदन करें

Recruitment for the post of Data Entry Operator started – Apply

Published

on

CSPHCL DEO Reruitment 2021

सीएसपीएचसीएल डाटा एंट्री ऑपरेटर (डीईओ) भर्ती 2021 – छत्तीसगढ़ स्टेट पावर जनरेशन कंपनी लिमिटेड (सीएसपीजीसीएल) ने डाटा एंट्री ऑपरेटर भर्ती 2021 के पद के लिए एक आवेदन आमंत्रित किया है। सीएसपीएचसीएल डीईओ भर्ती 2021 विवरण और सभी पात्रता मानदंड को पूरा करने के लिए अधिसूचना पढ़ सकते हैं और ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं

सीएसपीएचसीएल डाटा एंट्री ऑपरेटर (डीईओ) भर्ती के लिए 29 सितम्बर से आवेदन शुरू हो चुके है, और आवेदन करने की अंतिम तिथि 28 अक्टूबर 2021, समय रहते उम्मीदवार अपना रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया पूर्ण करलें

डाटा एंट्री ऑपरेटर के कुल 400 पदों के लिए भर्तियां है

डाटा एंट्री ऑपरेटर पदों के लिए आवेदन करने हेतु निम्नलिखित योग्तया का होना जरुरी है
यूजीसी द्वारा मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से न्यूनतम द्वितीय श्रेणी स्नातक डिग्री उत्तीर्ण। या
एक वर्षीय डिप्लोमा डाटा एंट्री ऑपरेटर/प्रोग्रामिंग।
अधिक विवरण अधिसूचना पढ़ें।

आवेदन करने हेतु : यहां क्लिक करें

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

खबर

RRB Group D नया अपडेट जारी जाने पूरी खबरें

(RRB) ने रेलवे ग्रुप डी भर्ती 2019 का नया नोटिस (RRB Group D New Notice) जारी किया है। रेलवे नए नोटिस जारी कर उन सभी उम्मीदवारों को बड़ी राहत दी है, जिन उम्मीदवारों के आवेदन गलत फोटो और हस्ताक्षर की वजह से रद्द कर दिए गए थे। आरआरबी (Railway Recruitment Board) उन सभी उम्मीदवारों को फिर से फोटो और सिग्नेचर ठीक करने का मौका देने वाला है। 

Published

on

RRB Group D new update released

नया नोटिस

(RRB) ने रेलवे ग्रुप डी भर्ती 2019 का नया नोटिस (RRB Group D New Notice) जारी किया है। रेलवे नए नोटिस जारी कर उन सभी उम्मीदवारों को बड़ी राहत दी है, जिन उम्मीदवारों के आवेदन गलत फोटो और हस्ताक्षर की वजह से रद्द कर दिए गए थे। आरआरबी (Railway Recruitment Board) उन सभी उम्मीदवारों को फिर से फोटो और सिग्नेचर ठीक करने का मौका देने वाला है। 

आरआरबी ने नोटिस जारी कर सूचना दी कि, ‘जिन उम्मीदवारों के आवेदन इवेलिड फोटो और/या हस्ताक्षर के चलते रिजेक्ट कर दिए गए थे, उन्हें केवल एक बार अपने फोटो और सिग्नेचर ठीक करने के लिए मॉडिफाई लिंक एक्टिव किया जाएगा।’ साथ ही उम्मीदवारों को सलाह दी गई है वे अपना सही फोटो और/या हस्ताक्षकर की स्कैन कॉपी अपने पास रख लें जैसा कि ‘CEN No. RRC-01/2019’ में बताया गया है। यानी एप्लीकेशन फॉर्म में किस तरह की फोटो और सिग्नेचर होने चाहिए, इसकी जानकारी आरआरबी की वेबसाइट्स पर विज्ञापन संख्या ‘CEN No. RRC-01/2019’ में चेक कर सकते हैं।

मॉडिफाई लिंक?

बोर्ड (RRB) जल्द ही अपनी आधिकारिक वेबसाइट्स पर फोटो और हस्ताक्षर ठीक करने का मॉडिफाई लिंक एक्टिव करेगा। हालांकि, आरआरबी ने जारी किए गए नोटिफिकेशन में लिंक एक्टिव करने की तारीख और समय की जानकारी नहीं दी है। इसलिए उम्मीदवारों को आरआरबी की वेबसाइट्स पर लगातार नजर बनाए रखना होगा।

आखिरी मौका

रेलवे भर्ती बोर्ड ने अपने नोटिफिकेशन में यह भी साफ कर दिया है कि इसके बाद इन उम्मीदवारों को कोई और मौका नहीं किया जाएगा। नोटिस में लिखा है कि, ‘इसके बाद, फोटो/हस्ताक्षर की वैधता के संबंध में आरआरबी का फैसला आखिरी और उम्मीदवारों के लिए मान्य होगा। इसके बादर आगे किसी भी आवेदन पर विचार नहीं किया जाएगा।’

वैकेंसी डिटेल्स

गौरतलब है कि, रेलवे ने साल 2019 में ग्रुप डी भर्ती का नोटिफिकेशन जारी किया था, इस भर्ती (RRB Group D Recruitment) के माध्यम से विभिन्न इकाईयों में कुल 10376 रिक्तियां भरी जाएंगी। ऑनलाइन आवेदन 12 मार्च से 12 अप्रैल 2019 तक भरे गए थे। आवेदकों को अब परीक्षा और एडमिट कार्ड का इंतजार है।

परीक्षा कब?

फिलहाल बोर्ड ने ग्रुप डी भर्ती परीक्षा शेड्यूल से संबंधित को आधिकारिक नोटिस जारी नहीं किया है। कयास लगाए जा रहे हैं कि आरआरबी दिसंबर 2021 में ग्रुप डी के एग्जाम आयोजित करा सकता है। परीक्षा, आरआरबी एनटीपीसी की तर्ज पर कई चरणों में आयोजित की जाएगी। आरआरबी ग्रुप डी एडमिट कार्ड, परीक्षा से चार दिन पहले अपलोड होने की उम्मीद है।

अधिक जानकारी के लिए यहां पर क्लिक करें

Continue Reading

खबर

अंत्योदय मेले, 29 नवंबर से जाने पूरी खबरें

 गरीब परिवार की आय 1.80 लाख रुपये तक पहुंचाने के लिए प्रत्येक जिले में मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत अंत्योदय मेले लगाए जाएंगे. इन मेलों के द्वारा गरीब परिवारों को किसी न किसी योजना के साथ जोड़कर उनकी आय बढ़ाने का कार्य किया जाएगा. इन मेलों की शुरूआत 29 नवंबर से होगी और इसे क्रमानुसार चलाकर सभी लाभपात्रों को कवर करते हुए विभिन्न योजनाओं का लाभ दिया जाएगा.

Published

on

Antyodaya Mela, from November 29

गरीब परिवारों को

 गरीब परिवार की आय 1.80 लाख रुपये तक पहुंचाने के लिए प्रत्येक जिले में मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत अंत्योदय मेले लगाए जाएंगे. इन मेलों के द्वारा गरीब परिवारों को किसी न किसी योजना के साथ जोड़कर उनकी आय बढ़ाने का कार्य किया जाएगा. इन मेलों की शुरूआत 29 नवंबर से होगी और इसे क्रमानुसार चलाकर सभी लाभपात्रों को कवर करते हुए विभिन्न योजनाओं का लाभ दिया जाएगा.

एसओपी

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग हरियाणा के प्रधान सचिव विनीत गर्ग ने शुक्रवार को चंडीगढ़ में वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से सभी जिला उपायुक्त को मेलों के आयोजन के संबंध में जरूरी बाते बताई. उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी व कर्मचारी इन मेलों में सकारात्मक सोच के साथ कार्य करें. मुख्यमंत्री स्वयं अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत आयोजित होने वाले मेलों के संबंध में निरंतर समीक्षा कर रहे हैं. मेले के आयोजन के संबंध में तैयार एसओपी सभी जिलों को भेज दी गई है, जिसके तहत उन्हें व्यवस्था इस प्रकार से बनानी है कि अधिक से अधिक लाभपात्र मेलों में आएं और जनहित की योजनाओं का लाभ उठाएं.

उद्देश्य

कि प्रदेश में कोई भी परिवार गरीब न रहे और गरीब से गरीब परिवार का जीवन बेहतर बन सके. इन मेलों में लीड बैंक के साथ-साथ अन्य बैंक भी भागीदारी करें और लाभार्थियों को योजनाओं का लाभ लेने संबंधी पूरी जानकारी समझाएं तथा ये कोशिश करें कि उन्हें जल्द से जल्द योजना संबधी ऋण स्वीकृति पत्र सुपुर्द करें. इन मेलों में ऐसे लाभार्थी युवाओं की भी तलाश की जाए, जिन्हें हरियाणा कौशल रोजगार निगम के माध्यम से प्रशिक्षण देकर स्वरोजगार अपनाने या फिर किसी क्षेत्र में रोजगार के लिए तैयार किया जा सके

कितने चरण

मेलों के पहले चरण में लाभार्थियों से आवेदन प्राप्त कर उन्हें बैंक द्वारा अुनमति की कार्यवाही की जाए और दूसरे चरण में यह अनुमति पत्र लाभार्थी को प्रदान कर स्कीम का लाभ दिया जाए. मेले के आयोजन के बाद लाभार्थियों से फीडबैक भी प्राप्त की जाएगी. मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के मिशन निदेशक मंदीप सिंह बराड़ ने बताया कि इन मेलों का आयोजन इस तैयारी से किया जाएगा कि इनके आयोजन का उद्देश्य भी सफल हो और इसके परिणाम भी बेहतर हो.

कोविड-19 के प्रोटोकाल

मेलों को दिन व समय के हिसाब से बांटा गया है. इनमें कोविड-19 के प्रोटोकाल का पालान भी अवश्य किया जाएगा. उन्होंने बताया कि मेले में एक स्वागत डेस्क, काउंसलिंग डेस्क, प्रतीक्षा डेस्क व विभिन्न विभागों से संबंधित डेस्क लगाए जाएं. इन स्टाल्स पर प्रशिक्षित स्टाफ की नियुक्ति होगी, जिन्हें प्रत्येक योजना के संबंध में विस्तृत जानकारी होगी. स्टॉल्स पर अधिक भीड़ नहीं होनी चाहिए व प्रत्येक लाभार्थी को उचित अवसर दिया जाएगा. मेले में सेंटर में एक जगह पर संबंधित विभागों के अधिकारी भी मदद के लिए उपलब्ध रहेंगे. मेले के आयोजन व समय के बारे में सभी लाभार्थियों को फोन के माध्यम से मैसेज भेज दिया जाएगा.

Continue Reading

खबर

सरकार परीक्षा पत्र खुद करवाएगी तैयार जानें पूरी खबर

 हरियाणा में सरकारी भर्तियों में बढ़ते फर्जीवाड़े को रोकने के लिए परीक्षा प्रणाली में बदलाव करने की तैयारियां चल रही है. एचएससी और एचपीएससी दोनों आयोग परीक्षा के नई प्रणाली का ढांचा तैयार कर रहे हैं.

Published

on

Government will prepare the exam paper itself

 हरियाणा में सरकारी भर्तियों में बढ़ते फर्जीवाड़े को रोकने के लिए परीक्षा प्रणाली में बदलाव करने की तैयारियां चल रही है. एचएससी और एचपीएससी दोनों आयोग परीक्षा के नई प्रणाली का ढांचा तैयार कर रहे हैं.

हरियाणा में सरकारी परीक्षाओं में हाल ही में फर्जीवाड़े के कई मामले सामने आए हैं. इस बढ़ते फर्जीवाड़े को रोकने के लिए परीक्षा प्रणाली को राज्य सरकार अपने नियंत्रण में लेने की तैयारी कर रही है. हरियाणा लोक सेवा आयोग और हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग इसका खाका तैयार करने में लगे हुए हैं. इस संदर्भ में मुख्यमंत्री मनोहर लाल जल्द ही आयोग के अधिकारियों तथा प्रतिनिधियों से बैठक करके अंतिम निर्णय लेंगे.

निजी कंपनी

फर्जीवाड़े  को रोकने के लिए निजी कंपनियों को परीक्षा तैयार करने की प्रणाली से बाहर रखा जाएगा. फिलहाल एचपीएससी और एसएससी की भर्तियों के पेपर तैयार करना, सिक्योरिटी, परीक्षा केंद्रों में सीसीटीवी, रोल नंबर तैयार करने और पेपर कंडक्ट कराने का काम निजी कंपनियों के पास है. ओएमआर शीट स्कैन करने, रिजल्ट बनाना और उत्तरकुंजी में आपत्तियों का काम भी निजी कंपनियों के हाथ में है. आयोग का काम इन कंपनियों पर निगरानी रखने का है किंतु स्टाफ और ढांचा नहीं होने के कारण ऐसा नहीं हो पा रहा है.

फर्जीवाड़े को रोका जाएगा

सरकारी भर्तियों में बढ़ते फर्जीवाड़े के कारण दोनों आयोगों परीक्षा प्रणाली पर नए सिरे से विचार कर रहे हैं. जिसमें दूसरे प्रदेशों की परीक्षा प्रणालियों को देखा जा रहा है. ताकि सरकारी भर्तियों की परीक्षा प्रणाली को फर्जीवाड़े से मुक्त किया जा सके. ऐसी सूचना सामने आई है कि दोनों आयोगों ने इस विषय पर सहमति जताई है कि निजी कंपनियों से परीक्षा प्रणाली से संबंधित कामों को नहीं करवाया जाएगा. अयोग्य ही सरकारी भर्तियों के लिए परीक्षा की पूरी प्रणाली को नियंत्रित करेगा. जिसके फलस्वरूप सरकारी भर्तियों में हो रहे फर्जीवाड़े को रोका जा सकेगा.

चेयरमैन आलोक वर्मा

एचपीएससी के चेयरमैन आलोक वर्मा ने बताया कि भर्तियों में बढ़ते फर्जीवाड़े को रोकने के लिए पूरी परीक्षा प्रणाली के ढांचे में परिवर्तन का मसौदा तैयार किया जा रहा है. एसएससी के चेयरमैन भोपाल सिंह खत्री ने भी यही कहा है कि जल्द ही मसौदा तैयार कर सरकार को भेजा जाएगा. इस मसौदे पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर दोनों आयोगों के साथ बैठक कर इस विषय पर अंतिम निर्णय लेंगे.

Continue Reading
Advertisement

Trending