Connect with us

सरकारी योजनाएं

नेशनल पेंशन प्रणाली: केंद्र सरकार की दो साल पहले 4 फीसदी बढ़ोत्तरी

नेशनल पेंशन प्रणाली: केंद्र सरकार की दो साल पहले 4 फीसदी बढ़ोत्तरी
National pension system: 4 percent increase of the central government two years ago

Published

on

National Pension System

नेशनल पेंशन प्रणाली में शामिल हरियाणा के डेढ़ लाख कर्मचारियों को हर माह एक हजार रुपये का वित्तीय नुकसान उठाना पड़ रहा है। 2019 में लोकसभा चुनाव से पूर्व केंद्र सरकार ने इस प्रणाली में सरकारी अंशदान को 10 से बढ़ाकर 14 प्रतिशत कर दिया था। बावजूद इसके प्रदेश सरकार ने अभी तक यह बढ़ोतरी लागू नहीं की है।

नेशनल पेंशन प्रणाली के तहत पुरानी पेंशन बहाली को लेकर पहली नवंबर को एनपीएस कर्मचारी रोहतक में सर्व कर्मचारी संघ के बैनर तले राज्य स्तरीय सम्मेलन करने जा रहे हैं। इसमें आंदोलन तेज करने की रणनीति बनाई जाएगी। इसमें सभी विभागों, बोर्ड, निगमों, विश्वविद्यालयों, नगर निगमों, परिषदों, पालिकाओं की यूनियन एवं एसोसिएशन में कार्यरत एनपीएस कर्मचारियों के प्रतिनिधि शामिल होंगे।

संघ के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा के मुताबिक

नेशनल पेंशन प्रणाली: संघ के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा व महासचिव सतीश सेठी ने बताया कि सातवें वेतन आयोग ने एनपीएस को समाप्त कर कोई अन्य बेहतर पेंशन स्कीम लागू करने की सिफारिश की थी, जिसे केंद्र सरकार ने अनदेखा कर दिया। केंद्र ने इस योजना को जनवरी 2004 से लागू किया, जबकि हरियाणा में जनवरी 2006 से लागू हुई। योजना के तहत कर्मचारियों को अंशदान के मुताबिक ही पेंशन मिलेगी।

एक हजार रुपए प्रतिमाह का कर्मचारी झेल रहे नुकसान

नेशनल पेंशन प्रणाली: आल इंडिया स्टेट गवर्नमेंट इंपलाइज फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुभाष लांबा ने बताया कि एनपीएस के विरोध में कर्मचारियों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। दो साल से अधिक समय से एक हजार रुपए का नुकसान हर महीने झेल रहे कर्मचारियों के अंदर का गुबार किसी भी समय फूट सकता है।

कर्मचारी संगठनों के दबाव में निरंतर एनपीएस में कुछ संशोधन हुए हैं, लेकिन सरकार इसे रद्द नहीं कर रही। निरंतर आंदोलन के कारण ही 20 लाख रुपए डीसीआरजी व कई आवश्यक उद्देश्यों के लिए निकासी का प्रावधान हो पाया है। दुर्घटना में मृत्यु पर भी पुरानी पेंशन मिलने का संशोधन हुआ है। कर्मचारियों की मांग एनपीएस रद्द कर पुरानी पेंशन बहाली की है, जब तक यह मांग पूरी नहीं हो जाती, आंदोलन जारी रहेगा।

एनपीएस व पुरानी पेंशन स्कीम में अंतर

नेशनल पेंशन प्रणाली :- पुरानी पेंशन स्कीम में जीपीएफ की सुविधा एनपीएस में नहीं। पेंशन के लिए वेतन से कटौती नहीं, एनपीएस में हर माह दस फीसदी कटौती। पूरी पेंशन सरकार देती है, एनपीएस में बीमा कंपनी देगी। एनपीएस में सेवानिवृत्ति के बाद मेडिकल भत्ता, मेडिकल बिलों की प्रतिपूर्ति बंद, पारिवारिक पेंशन खत्म, महंगाई व वेतन आयोग का लाभ नहीं है।

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

खबर

अभी तक नहीं मिली है वृद्धावस्था पेंशन जाने पूरी खबर

 हरियाणा में वृद्धावस्था पेंशन लेने वाले बुजुर्गों की जेब अभी तक खाली पड़ी है. अभी तक हरियाणा सरकार ने बुढ़ापा पेंशन के लिए बजट जारी नहीं किया है. करीब 28 लाख लोग इससे प्रभावित हैं. दो दिन तक और पेंशन नहीं आई तो फिर बुजुर्गों को 17 से 20 दिन का इंतजार और करना पड़ सकता है.

Published

on

Not yet received old age pension

 हरियाणा में वृद्धावस्था पेंशन लेने वाले बुजुर्गों की जेब अभी तक खाली पड़ी है. अभी तक हरियाणा सरकार ने बुढ़ापा पेंशन के लिए बजट जारी नहीं किया है. करीब 28 लाख लोग इससे प्रभावित हैं. दो दिन तक और पेंशन नहीं आई तो फिर बुजुर्गों को 17 से 20 दिन का इंतजार और करना पड़ सकता है.

कितना सम्मान भत्ता

प्रदेश में हर महीने बुढ़ापा पेंशन, दिव्यांग, विधवा पेंशन के लाभार्थियों को हर महीने ढाई हजार रुपए उनके खाते में मिलता है. खजाना खाली हैं या फिर बजट रिवाइज नहीं हुआं है, इस पर अधिकारी कुछ भी स्पष्टीकरण नहीं दें रहें हैं. यें जरुर कह रहे हैं कि यह समस्या पूरे प्रदेश की है,किसी एक जिले की नहीं.

ज्यादा असर

प्रदेश में करीब 28 लाख लोग इससे प्रभावित हैं. साल 2021 में बुढ़ापा पेंशन लेने वालों की संख्या जहां 17.38 लाख के पार है. वहीं 7.50 लाख विधवा, 1.74 लाख लोगों को दिव्यांग पेंशन भी हर महीने दी जाती है. लाड़ली योजना के तहत भी इन्हीं वर्गों के समान हर महीने 2500 रुपए दिए जाते हैं. आम तौर पर 17 तारीख के आसपास पेंशन जारी कर दी जाती है.

20 दिन बाद

सामाजिक न्याय एवं सशक्तिकरण विभाग पेंशन के लिए सरकार की नोडल एजेंसी है. विभाग के अकाउंटेंट राजकुमार ने बताया कि अभी तक पूरे प्रदेश में पेंशन नहीं मिली है. बजट रिवाइज नहीं हो पाया है, आज या कल में बजट नहीं मिला तो फिर अगले महीने दो महीनों की पेंशन साथ मिलेगी.

Continue Reading

खबर

बेरोजगारी भत्ते के आवेदन के लिए 1 दिन बाकी जानें पूरी खबर

सभी युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देती है,जो बेरोजगार होते हैं. इस भत्ते को प्राप्त करने के लिए योग्य युवाओं को आवेदन करना पड़ता है. बेरोजगारी भत्ते के आवेदन के लिए अब एक दिन ही शेष बचा है. आपको बता दें कि बेरोजगारी भत्ता प्राप्त करने के लिए कुछ आवश्यक दस्तावेज की जरूरत पड़ती है. जिसमें सबसे आवश्यक है परिवार पहचान पत्र इसके बिना आवेदन करना संभव नहीं है. जिन परिवारों की वार्षिक आय तीन लाख से कम है वह ही बेरोजगारी भत्ते के पात्र माने जाएंगे

Published

on

1 day left to apply for unemployment allowance

एक दिन ही शेष

सभी युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देती है,जो बेरोजगार होते हैं. इस भत्ते को प्राप्त करने के लिए योग्य युवाओं को आवेदन करना पड़ता है. बेरोजगारी भत्ते के आवेदन के लिए अब एक दिन ही शेष बचा है. आपको बता दें कि बेरोजगारी भत्ता प्राप्त करने के लिए कुछ आवश्यक दस्तावेज की जरूरत पड़ती है. जिसमें सबसे आवश्यक है परिवार पहचान पत्र इसके बिना आवेदन करना संभव नहीं है. जिन परिवारों की वार्षिक आय तीन लाख से कम है वह ही बेरोजगारी भत्ते के पात्र माने जाएंगे

अंतिम तिथि

बेरोजगार युवाओं के लिए भत्ता लेने के लिए जिला रोजगार कार्यालय में आवेदन फाइल जमा कराने का एक दिन बाकी है. आवेदन करने की अंतिम तिथि 30 नवंबर है. बेरोजगार युवाओं के परिवारों की वार्षिक आय तीन लाख से कम है, तो वे भत्ते के लिए रोजगार कार्यालय में आवेदन कर सकते है. आवेदन करने के लिए आवेदक का परिवार पहचान पत्र में नाम दर्ज होना आवश्यक है.

रुपये खर्च किए जाते है

रोजगार विभाग हरियाणा की ओर से शिक्षित बेरोजगारों के लिए बेरोजगारी भत्ता योजना चलाई जाती है. इसके अंतर्गत शिक्षित बेरोजगार युवाओं को प्रतिवर्ष नवंबर माह में जिला रोजगार कार्यालय में जाकर आवेदन करना होता है. जिसके तीन साल बाद शिक्षित बेरोजगार युवा को भत्ता मिलना प्रारंभ होता है. जिला रोजगार कार्यालय के अंतर्गत कुरुक्षेत्र में अभी भी 12 हजार 444 युवा शिक्षित बेरोजगार की श्रेणी में आते है. जो  प्रत्येक महीने अपना भत्ता लेते है. विभाग की ओर से इन पर प्रतिमाह आठ करोड़ 19 लाख सात हजार 500 रुपये खर्च किए जाते है. वहीं इस माह में जिन बेरोजगार युवाओं के तीन साल पूरे हो गए है. उनका भत्ता भी शुरू हो जाएगा.

कितना भत्ता मिलता है

रोजगार विभाग की ओर से जिन युवाओं ने 12वीं, ग्रेजुएट ओर पोस्ट ग्रेजुएट कर ली है और उन्हें कही नौकरी नहीं मिली है. ऐसे में कार्यालय में आवेदन करने वाले युवाओं को बेरोजगारी भत्ता दिया जाता है. इस बेरोजगारी भत्ते की फाइल अप्रूव होने के बाद 12वीं पास युवा को 900 रुपये प्रतिमाह, ग्रेजुएट युवाओं को 1500 रुपये और पोस्ट ग्रेजुएट को तीन हजार रुपये प्रतिमाह बेरोजगारी भत्ता सरकार देती है.

कार्यालय में फाइल

रोजगार कार्यालय में न्यू रजिस्ट्रेशन के बाद जब तीन साल पूरे हो जाते हैं तो आवेदक को फाइल लगानी पड़ती है. फाइल की क्रास वेरिफिकेशन के बाद भत्ता मिलना शुरू होता है. युवाओं को 35 वर्ष की आयु तक रोजगार विभाग द्वारा बेरोजगारी भत्ता दिया जाता है.

जरूरी  दस्तावेज

आवेदन करने के बाद फार्म का प्रिंट लेकर अपना आधार कार्ड, हरियाणा निवास प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, शैक्षणिक योग्यता के प्रमाण पत्र, बैंक खाता कापी, राशन कार्ड कापी, स्वयं घोषणा पत्र, दो फोटो के साथ फाइल तैयार करके रोजगार कार्यालय में जमा करवानी होगी.

Continue Reading

खबर

उत्थान मेलों से बढ़ेगी परिवारों की वार्षिक आय जानें पूरी खबर

अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत मेले लगाने का फैसला किया था. एक लाख 80 हजार रुपये से कम वार्षिक आय वाले परिवार इस योजना में शामिल किए जा रहे हैं. जिला उपायुक्त डॉ. यश गर्ग ने बताया कि जिले में अब तक चिह्नित 1235 परिवारों को रोजगार व स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से 29 नवंबर से 22 दिसंबर तक खंड, नगरपालिका एवं नगर निगम स्तर पर अंत्योदय ग्राम उत्थान मेले होंगे. संबंधित एसडीएम व संयुक्त आयुक्त को मेले का नोडल अधिकारी बनाया गया जाएगा.

Published

on

Utthan fairs will increase the annual income of families

कितनी आय वाले योजना में शामिल किए

अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत मेले लगाने का फैसला किया था. एक लाख 80 हजार रुपये से कम वार्षिक आय वाले परिवार इस योजना में शामिल किए जा रहे हैं. जिला उपायुक्त डॉ. यश गर्ग ने बताया कि जिले में अब तक चिह्नित 1235 परिवारों को रोजगार व स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से 29 नवंबर से 22 दिसंबर तक खंड, नगरपालिका एवं नगर निगम स्तर पर अंत्योदय ग्राम उत्थान मेले होंगे. संबंधित एसडीएम व संयुक्त आयुक्त को मेले का नोडल अधिकारी बनाया गया जाएगा.

कहां-कहां लगेंगे  मेले

इन मेलों का आयोजन 30 नवंबर यानी आज कार्यालय खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी फर्रुखनगर, 02 दिसंबर को पंचायत घर ग्राम दौला ब्लॉक सोहना, 07 दिसंबर मीटिंग हॉल, उपमंडल अधिकारी कार्यालय पटौदी में होगा. इसी तरह से 09 दिसंबर को सामुदायिक भवन टिकली, 13 दिसंबर को नगर निगम गुरुग्राम के जोन 1 के सामुदायिक भवन सेक्टर चार में होगा. 15 दिसंबर को जोन 2,3,4 व 5 के लिए सामुदायिक भवन सुखराली, 17 दिसंबर को जोन 06 के लिए सामुदायिक भवन सुखराली व 21 दिसंबर को पंचायत घर ग्राम दौला नगर परिषद सोहना में मेला किया जाएगा. संबंधित खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी, सचिव नगर पालिका एवं नगर परिषद द्वारा चिह्नित परिवारों को मेले में बुलाया जाएगा.

कब तक लगेंगे मेले

ब्लॉक स्तर पर 29 नवंबर से 25 दिसंबर तक मेले लगाए जाएंगे जिनमें विभिन्न विभागों की योजनाओं से अवगत करवाया जाएगा. युवाओं को अपनी इच्छा से व्यवसाय चुनने का मौका दिया जाएगा. मेले के दौरान बैंक अधिकारी लोन संबंधी सभी औपचारिकताएं पूरी करेंगा. वही साथ पात्र व्यक्ति को बैंक गारंटी की आवश्यकता होने पर सरकार मदद करेगी.

Continue Reading
Advertisement

Trending