Connect with us

शिक्षा

मेवात मॉडल स्कूलों के स्टाफ को मिलेगा वेतन रुपए 10 करोड़ जारी

Published

on

model school tender

चंडीगढ़| मेवात मॉडल स्कूलों के स्टाफ को 5 महीने का रुका हुआ वेतन जल्द मिलेगा| अप्रैल से वेतन की  अदायगी नहीं हुई है विधि विभाग ने मंगलवार को ₹100000000 31 लाख रुपए का बजट अतिरिक्त मुख्य सचिव  स्कूल शिक्षा को भेज दिया है

इसमें 7 में से 5 महीने का वेतन जारी किया जाएगा| इन स्कूलों को शिक्षा विभाग  मैं  समायोजित करने की प्रक्रिया भी जरूरी होगी

सर्व कर्मचारी संघ व मेवात मॉडल स्कूल वेलफेयर एसोसिएशन लगातार बकाया वेतन के भुगतान की मांग कर रहे थे स्कूलों के समायोजन और स्टाफ को 7 महीने से  वेतन  ने  मिलने से नाखुश एसोसिएशन का  शिष्टमंडल मंगलवार शाम  सर्व कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष लांबा के नेतृत्व में मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डॉ अमित अग्रवाल से मिला |

अग्रवाल ने आश्वासन दिया मेवात विकास बोर्ड की 12 नवंबर 2020 को मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में आयोजित   30 वी बैठक में हुए समायोजन के निर्णय को लागू करने के आदेश जारी हो चुके हैं  क्रियान्वयन  का काम शीघ्र पूरा कर लिया जाएगा|

प्रतिनिधिमंडल में एसोसिएशन के प्रधान सतीश  खटाना  महासचिव निसार अहमद व उपप्रधान विजेंद्र सिंह  शामिल रहे

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

खबर

पुलिस कांस्टेबल परीक्षा में इस तरह किया नॉर्मलाईजेशन जाने पूरी खबर

 (HSSC) द्वारा हरियाणा पुरुष सिपाही की लिखित परीक्षा के बाद जिन 38547 उम्मीदवारों को फिजिकल स्क्रीनिंग टेस्ट के लिए बुलाया है, उनकी परीक्षा का नॉर्मलाइजेशन परसेंटाइल तरीके से किया गया है. आयोग की तरफ से रोल नंबर जारी होने के बाद हर उम्मीदवार यही पूछ रहा है कि नॉर्मलाइजेशन किस तरह किया गया है.

Published

on

Normalization done like this

 (HSSC) द्वारा हरियाणा पुरुष सिपाही की लिखित परीक्षा के बाद जिन 38547 उम्मीदवारों को फिजिकल स्क्रीनिंग टेस्ट के लिए बुलाया है, उनकी परीक्षा का नॉर्मलाइजेशन परसेंटाइल तरीके से किया गया है. आयोग की तरफ से रोल नंबर जारी होने के बाद हर उम्मीदवार यही पूछ रहा है कि नॉर्मलाइजेशन किस तरह किया गया है.

आयोग के अध्यक्ष भोपाल सिंह खदरी द्वारा सूचना दी गई कि आयोग ने इंडियन स्टैटिकल इंस्टीट्यूट कोलकाता से पूछा था कि हरियाणा पुलिस कांस्टेबल परीक्षा 8 लाख से अधिक उम्मीदवारों ने दी है और उन कई शिफ्ट में पेपर हुए हैं तो नॉर्मलाइजेशन की कौन सी प्रक्रिया अपनाई जाए. इंस्टिट्यूट द्वारा सूचना दी गई कि परसेंटाइल प्रक्रिया ठीक है क्योंकि यह प्रक्रिया जेईई, नीट, रेलवे इंजीनियरिंग इत्यादि मे भी प्रयोग की जाती है. इसके तहत एक फार्मूले के अनुसार परसेंटाइल बनती है और बाद में नॉर्मलाइजेशन की जाती है.

उम्मीदवारों की ऐसे हुई नॉर्मल आईजेशन

परीक्षा में प्राप्त अंक के बजाय परसेंटाइल के अनुसार मेरिट बनी है. आयोग के अध्यक्ष ने बताया कि उदाहरण के लिए पेपर 1 में टॉपर रहे अ उम्मीदवार के प्राप्तांक 70 थे और पेपर 2 में टॉपर रहे क उम्मीदवार के प्राप्ताँक 75 थे. पेपर 1 में दूसरे स्थान पर रहे ब उम्मीदवार को 65 अंक प्राप्त हुए जबकि दूसरे पेपर में दूसरे स्थान पर रहे उम्मीदवार ख को 70 अंक प्राप्त हुए.पेपर 1 में तीसरे स्थान पर रहे उम्मीदवार स को 63 अंक प्राप्त हुए जबकि दूसरे पेपर में तीसरे स्थान पर रहने वाले उम्मीदवार ग को 63 अंक मिले.

अगर प्राप्त अंकों के अनुसार मेरिट बनती तो क उम्मीदवार सबसे ऊपर होता, दूसरे नंबर पर संयुक्त रूप से ख और अ उम्मीदवार होते. लेकिन नॉर्मलाइजेशन के कारण अ और क दोनों उम्मीदवार मेरिट में रहे. इसी प्रकार से अभी 24 पेपरों का परसेंटआइल निकाल कर उन्हें मिला दिया गया और कुल पदों की कैटेगरी के अनुसार 7 गुना उम्मीदवार बुलाने के लिए परसेंटेल के अनुसार 38547 उम्मीदवारों का चयन किया गया है

परसेंटाइल सबसे कारगर तरीका है

कि 64 अंकों वाले उम्मीदवार को पीएसटी के लिए नहीं बुलाया गया जबकि 60 अंकों वाले उम्मीदवार को बुलाया गया है. इस पर अध्यक्ष ने बताया कि किसी भी उम्मीदवार को उसकी परीक्षा में प्राप्त होने वाले अंकों के आधार पर फिजिकल के लिए नहीं बुलाया गया है बल्कि परसेंटाइल के अनुसार बुलाया गया है. जब अध्यक्ष से सवाल किया गया कि परसेंटाइल अंकों के साथ साथ उम्मीदवारों के परीक्षा प्राप्तांक क्यों नहीं दर्शाए गए तो भोपाल सिंह ने बताया कि अभी अंतिम परिणाम घोषित नहीं हुआ है

अभी उन अंको को सार्वजनिक नहीं किया जा सकता. जब अंतिम रिजल्ट आएगा उसके बाद यह अंक भी दर्शा दिए जाएंगे.अध्यक्ष ने जानकारी दी कि जब उमेदवार ज्यादा हो और पेपर को एक से ज्यादा शिफ्ट में करवाना मजबूरी हो तो नॉर्मलआईजेशन प्रक्रिया अपनाकर मेरिट लिस्ट बनाई जाती है. यह प्रक्रिया पूरे देश में सभी परीक्षाओं में अपनाई जा रही है. इस प्रक्रिया से किसी भी उम्मीदवार को कोई नुकसान नहीं है क्योंकि अलग-अलग शिफ्ट में अलग-अलग कठिनाई स्तर का आना स्वभाविक है.

Continue Reading

खबर

परीक्षा देने वाले आवेदक ध्यान दें क्या है नए नियम

 हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (HSSC) द्वारा पटवारी,कैनल पटवारी और ग्राम सचिव के पदों पर भर्ती की लिखित परीक्षा का आयोजन होना है. जो भी उम्मीदवार इस परीक्षा में शामिल होंगे उनके लिए यह है एक बहुत बड़ी खबर साबित होने वाली है. सभी आवेदकों से अनुरोध है कि वह खबर को अंत तक पढ़े. आप सभी जानते हैं कि पटवारी,कैनल पटवारी और ग्राम सचिव की परीक्षा 26 दिसंबर से 28 दिसंबर तक होनी थी लेकिन CBSE की परीक्षाओं के टकराव के कारण तिथि में बदलाव किया गया तथा परीक्षाओं की तिथि 7, 8 और 9 जनवरी 2022 निर्धारित की गई.

Published

on

 हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (HSSC) द्वारा पटवारी,कैनल पटवारी और ग्राम सचिव के पदों पर भर्ती की लिखित परीक्षा का आयोजन होना है. जो भी उम्मीदवार इस परीक्षा में शामिल होंगे उनके लिए यह है एक बहुत बड़ी खबर साबित होने वाली है. सभी आवेदकों से अनुरोध है

कि वह खबर को अंत तक पढ़े. आप सभी जानते हैं कि पटवारी,कैनल पटवारी और ग्राम सचिव की परीक्षा 26 दिसंबर से 28 दिसंबर तक होनी थी लेकिन CBSE की परीक्षाओं के टकराव के कारण तिथि में बदलाव किया गया तथा परीक्षाओं की तिथि 7, 8 और 9 जनवरी 2022 निर्धारित की गई.

परीक्षाओं के लिए एडमिट कार्ड 1 जनवरी 2022 को जारी हो जाएंगे. एडमिट कार्ड में परीक्षा की तिथि और स्थान दिया हुआ होगा.एडमिट कार्ड के साथ-साथ अभ्यर्थी यह भी ध्यान रखें कि परीक्षा के लिए हॉल टिकट के साथ-साथ एक फोटो पहचान पत्र जैसे ड्राइविंग लाइसेंस,,आधार कार्ड या वोटर आईडी कार्ड जरूर साथ में लेकर जाएं.

इसके अतिरिक्त उम्मीदवारों को 2 रंगीन फोटो भी साथ लेकर जानी है इसलिए इस बात का खास तौर पर ध्यान रखें अगर ऐसा नहीं हुआ तो पर्यवेक्षक उम्मीदवारों को परीक्षा देने की अनुमति नहीं देगा.

Continue Reading

खबर

दाखिला ना देने वाले स्कूलों पर होगी कार्रवाई जानें पूरी खबर

 नियम 134 ए के तहत विद्यार्थियों को दाखिला देने में संचालक आनाकानी कर रहे हैं. बता दें कि दाखिला नहीं देने पर अभिभावक खंड जिला शिक्षा अधिकारी के पास शिकायतें दे रहे हैं. वही इस पर जिला शिक्षा अधिकारी डॉ विजयलक्ष्मी नांदल ने नियम 134 ए के तहत दाखिला नहीं देने वाले स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं. शिक्षा विभाग द्वारा निजी स्कूल में नियम 134 ए के तहत परीक्षा परिणाम 17 दिसंबर को जारी किया गया था

Published

on

Action will be taken against schools that do not give admission

 नियम 134 ए के तहत विद्यार्थियों को दाखिला देने में संचालक आनाकानी कर रहे हैं. बता दें कि दाखिला नहीं देने पर अभिभावक खंड जिला शिक्षा अधिकारी के पास शिकायतें दे रहे हैं. वही इस पर जिला शिक्षा अधिकारी डॉ विजयलक्ष्मी नांदल ने नियम 134 ए के तहत दाखिला नहीं देने वाले स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं. शिक्षा विभाग द्वारा निजी स्कूल में नियम 134 ए के तहत परीक्षा परिणाम 17 दिसंबर को जारी किया गया था

अधिकारी ने दिए सख्ती के आदेश 

कुछ निजी स्कूल संचालक विद्यार्थियों को दाखिला न देकर कोर्ट केस का हवाला देते हैं. वही दूसरी ओर कई स्कूल संचालक स्कूल में नियम 134 ए के तहत सीटें नहीं होने की भी बात कह रहे हैं. निजी स्कूलों द्वारा दाखिले के लिए फीस मांगे जाने की भी शिकायतें अधिकारियों के पास आ रही है.

इन शिकायतों पर जिला शिक्षा अधिकारी डॉ विजयलक्ष्मी नांदल ने ध्यान देते हुए खंड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए हैं. जिसके तहत अगर कोई स्कूल संचालक दाखिला नहीं देता, तो उसके खिलाफ कार्यवाही की जाए. ऐसे स्कूलों की शिकायत मिलने पर रिपोर्ट भी मांगी गई है. नियम 134 ए के तहत 1692 विद्यार्थियों का परिणाम घोषित कर स्कूल आंबटित कर दिए गए

दूसरी से 9वीं कक्षा तक करीब 2600 विद्यार्थियों ने परीक्षा दी. निजी स्कूलों में दाखिला मिलने वाले विद्यार्थियों को 24 दिसंबर तक दस्तावेजों की जांच के साथ दाखिला लेना जरूरी है. सत्यापन के दौरान विद्यार्थियों के दस्तावेज अगर सही नहीं हुए तो दाखिला रद्द किया जाएगा.

Continue Reading
Advertisement

Trending